Trending

tutorial tip's लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
tutorial tip's लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

18 अगस्त 2019

11:30 am

Ads.txt File Adsense | How To Fix Ads.txt In Blogger | Earning At Risk Adsense, in hindi

Ads.txt File Adsense | How To Fix Ads.txt In Blogger | Earning At Risk Adsense, in hindi




विज्ञापन एक प्रकाशक के लिए पैसा उत्पन्न करने के लिए प्राथमिक कुंजी है।  विज्ञापन कई प्रकार के हो सकते हैं और कई विज्ञापन प्रदाता हैं जो प्रकाशकों को अपने ब्लॉग से पैसा बनाने में मदद करते हैं।  लेकिन, किसी विशेष वेबसाइट पर दिखाए जाने वाले विज्ञापनों की प्रामाणिकता की जाँच करना बहुत आवश्यक है।  किसी वेबसाइट पर दिखाए जाने वाले विज्ञापनों का सत्यापन ads.txt फ़ाइल द्वारा प्राप्त किया जा सकता है।  एक ads.txt फ़ाइल धोखाधड़ी या वायरस से प्रकाशक और विज्ञापनदाता दोनों को सुरक्षित करती है।  यह आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर ads.txt फ़ाइल को जोड़ने के लिए आवश्यक है, इसलिए यहां हम चर्चा कर रहे हैं कि आप अपने BlogSpot ब्लॉग में ads.txt फ़ाइल को आसानी से कैसे जोड़ सकते हैं।


 अपने ब्लॉगर ब्लॉग पर ads.txt फ़ाइल जोड़ने से पहले, आइए जानते हैं कि वास्तव में ads.txt क्या है और यह हमें कैसे फायदा पहुँचाने वाला है।

Ads.txt फ़ाइल क्या है?
 "Ads.txt" केवल एक टेक्स्ट फ़ाइल है जिसे आपके ब्लॉग के सर्वर पर रखा जा सकता है और यह ब्लॉग के मालिक द्वारा उपयोग किए जाने वाले विज्ञापन नेटवर्क के बारे में जानकारी प्रदान करता है और मालिक इन विज्ञापनों नेटवर्क को वेबसाइट पर विज्ञापन दिखाने के लिए अधिकृत करता है।  इस ads.txt फ़ाइल का उपयोग करने के पीछे मुख्य विचार प्रकाशकों को धोखाधड़ी और वायरस से बचाने के लिए है क्योंकि आप केवल उन विज्ञापनों नेटवर्क को अपनी वेबसाइट पर विज्ञापन प्रदर्शित करने के लिए अधिकृत करेंगे जिनके बारे में आप जानते हैं और इसलिए कोई भी मैलवेयर स्क्रिप्ट जो आपके ब्लॉग पर विज्ञापन दिखाए बिना  किसी भी अज्ञात स्रोतों से आपकी अनुमति, वह कार्य नहीं कर सकती है जो उसे करना चाहिए।



Ads.txt का उपयोग करने के लाभ:
 जाहिर है, यह भविष्य है।  तकनीक दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है।  आपकी साइट पर एक्सपोज़र की तलाश कर रहे विज्ञापनदाताओं को गलत तरीके से इन्वेंट्री खरीदने के मामले में धोखा नहीं दिया जाएगा और आप मूल्य निर्धारण पर नियंत्रण बनाए रखेंगे।  तो, चलिए अपनी उंगलियों को रोल करना शुरू करते हैं कि आप अपने Blogger BlogSpot ब्लॉग में ads.txt फ़ाइल कैसे जोड़ सकते हैं।

ब्लॉगर में कस्टम Ads.txt फ़ाइल जोड़ने के लिए कदम?
आपको बस अपने blogger ब्लॉग में एक custom ads.txt file add करने के लिए step by step guide का पालन करना होगा।

😎 ब्लॉगर डैशबोर्ड पर लॉगिन करें और इच्छित ब्लॉग चुनें, जिसमें आप ads.txt फाइल जोड़ना चाहते हैं।
Ads.txt File Adsense | How To Fix Ads.txt In Blogger | Earning At Risk Adsense

😎सेटिंग्स टैब पर क्लिक करें और फिर वरीयताएँ खोजें।
Ads.txt File Adsense | How To Fix Ads.txt In Blogger | Earning At Risk Adsense

😎मुद्रीकरण शीर्षक के तहत, आपको कस्टम ads.txt संपादित करने का विकल्प दिखाई देगा।  (स्क्रीनशॉट देखें)
Ads.txt File Adsense | How To Fix Ads.txt In Blogger | Earning At Risk Adsense

😎कस्टम ads.txt कंटेंट को इनेबल करने के लिए Edit और फिर Yes पर क्लिक करें।
😎आपको एक टेक्स्ट बॉक्स दिखाया जाएगा और आपको अपनी इच्छित ads.txt फाइल डालनी होगी।  कई विज्ञापन नेटवर्क हैं और उनके पास ads.txt की एक अलग पहचान है।
😎यदि आप केवल Google Adsense को अपने मुद्रीकरण भागीदार के रूप में उपयोग कर रहे हैं, तो निचे Ads.txt फ़ाइल का उपयोग करें।
google.com, pub-xxxxxxxxxx, DIRECT, f08c47fec0942fa0

😎बदलें, pub-xxxxxxxxxx, आपके एडसेंस प्रकाशक आईडी के साथ।
😎
 इसके अलावा, यदि आप अपने ब्लॉग पर Adsense ads space बेच रहे हैं, इसका मतलब है कि आप अपने ब्लॉग पर किसी अन्य व्यक्ति के Adsense का उपयोग कर रहे हैं, तो आपको अपने आप को विशेष Adsense प्रकाशक आईडी के पुनर्विक्रेता के रूप में प्रमाणित करने के लिए DIRECT को RESELLER से बदलने की आवश्यकता है, जैसे:

😎एक बार जब आप कर रहे हैं!  Save changes पर क्लिक करें।
 यह आपका ads.txt फ़ाइल अब आपके ब्लॉग पर लाइव है। SEO में Backlinks क्या हैं और Backlinks के क्या फायदे हैं?

11 अगस्त 2019

10:28 am

How To Add Your Blog In Google Search Console / Google Search Console में अपना ब्लॉग कैसे जोड़ें

Google खोज कंसोल (पहले Google वेबमास्टर टूल के रूप में जाना जाता है) Google द्वारा मुफ्त में प्रदान किए गए ऑनलाइन पेशेवर वेब टूल का एक संग्रह है।  GSC आपको Google खोज परिणामों के लिए अपनी वेबसाइट का प्रबंधन करने में मदद करता है।  जीएससी में खोज उपस्थिति, खोज ट्रैफ़िक एनालिटिक, त्रुटि जाँच, वेबसाइट सुधार सुझाव और बहुत कुछ शामिल हैं।More

चरण 1. https://www.google.com/webmasters/tools पर जाएं और फिर अपने Google खाते के साथ लॉग इन करें।
 चरण 2. दिए गए क्षेत्र में अपना ब्लॉग पता दर्ज करें।
How To Add Your Blog In Google Search Console

😎कस्टम डोमेन उपयोगकर्ताओं के लिए: http://www.example.com आप http के बजाय https का उपयोग कर सकते हैं यदि आपने अपने डोमेन रजिस्ट्रार से एसएसएल खरीदा है।
😎 सामान्य ब्लॉगर उपयोगकर्ताओं के लिए: http://www.example.blogspot.com आप http के बजाय https का भी उपयोग कर सकते हैं क्योंकि ब्लॉगर अपने उप-डोमेन के लिए एसएसएल को निःशुल्क प्रदान करता है।

नोट: यदि आप https का उपयोग कर रहे हैं तो सुनिश्चित करें कि सेटिंग> बेसिक> HTTPS में https रीडायरेक्ट 'ऑन' है

 चरण 3. यदि आपने उसी Google खाते का उपयोग उस खोज कंसोल में लॉग इन करने के लिए किया है जो ब्लॉगर खाते से जुड़ा था तो आपका ब्लॉग स्वचालित रूप से सत्यापित हो जाएगा।
How To Add Your Blog In Google Search Console

चरण 4. "अभी नहीं" पर क्लिक करें।
 नोट: यदि आपको वेबसाइट के स्वामी के रूप में सत्यापित नहीं किया गया है तो आप वैकल्पिक दिए गए तरीकों का उपयोग कर सकते हैं।

बहुत बढ़िया!
 अब आपने अपना सर्च कंसोल अकाउंट सफलतापूर्वक बना लिया है और अपने ब्लॉग को इसके साथ जोड़ लिया है।  ऊपर दिए गए ट्यूटोरियल से संबंधित किसी भी मुद्दे के लिए नीचे टिप्पणी करें।  रहो अपडेट, ब्राउज़ करें ngallinone

SEO में Backlinks क्या हैं और Backlinks के क्या फायदे हैं?
😎how to set ads.txt file in blogger?

21 मार्च 2019

7:25 pm

How to Add Browser Push Notifications button (follow button) to BlogSpot Blogger

क्या आप अपने ब्लॉगर ब्लॉग पर push notification service जोड़ना चाहते हैं? Push notification एक ऐसी सेवा है जो आपके ब्लॉग के विज़िटर को आपकी नई पोस्ट के बारे में नोटिफिकेशन भेजती है। आज इस आर्टिकल में हम बताएंगे कि OneSignal का उपयोग करके अपने blogger blog पर web push notifications कैसे जोड़ें। 


ब्लॉगर ब्लॉग में OneSignal push notifications क्यों जोड़ें

OneSignal push notification वेबसाइट या app पर एक छोटा सा clickable messages है। यदि विज़िटर का ब्राउज़र खुला नहीं रहता है, तो भी push notification दिखाई देती है। यह SMS, email marketing और अन्य सोशल मीडिया से अधिक engaging है।
  • यह पूरी तरह से free है और unlimited subscribers और notifications support करता है।
  • यह detailed reporting tools प्रदान करता है।
  • यह iOS, Android, Amazon Fire, Amazon Alexa, Safari, Chrome Web, Windows Phone, Chrome Apps, and Firefox को support करता है।

OneSignal के साथ Blogger Blog में Push Notifications कैसे जोड़ें

  • सबसे पहले, OneSignal साइट पर जाएं और account के लिए साइन अप करें।
    Google image
  • साइन अप करने के बाद Add a New App पर क्लिक करें और अपना ब्लॉग नाम दर्ज करें और फिर Createबटन पर क्लिक करें।
  • फिर Web Push को select करें और Next पर क्लिक करें।
    Google image
  • अब, Choose Integration से अपना website builder or CMS चुनें।
    Google image
  • फिर अपनी साईट का name और address इंटर करें। इसके अलावा, यहां आप अपनी साइट के लिए Icon URL भी add कर सकते हैं।
    Google image
  • अब Permission Prompt Setup पर जाएं और add a Prompt पर क्लिक करें।
    Google image
  • यहाँ सभी सेटिंग्स डिफ़ॉल्ट छोड़ दें और Save बटन पर क्लिक करें। यदि आप चाहते हैं, तो आप इसे अपनी आवश्यकताओं के अनुसार customize भी कर सकते हैं।
    Google image
  • सभी सेटिंग्स करने के बाद Save बटन पर क्लिक करें।
  • अब आपके पास एक कोड होगा जिसे आपको अपनी साइट के head section में जोड़ने की आवश्यकता है। इसलिए इसे नोटपैड में कॉपी करें।
  • अब, अपने ब्लॉगर ब्लॉग पर जाएं और Theme >> Edit HTML करें पर क्लिक करें।
  • फिर इस copied code को head tag के बाद पेस्ट करें।
    Google image
  • कोड पेस्ट करने के बाद फिर से OneSiganl settings page पर जाये और Add your first user पर स्क्रॉल करें फिर Go to my websiteआप्शन पर क्लिक करें।
  • यहां आप अपनी साइट के नीचे भाग में एक बेल बटन देखेंगे। अब OneSignal settings page पर जाएं और FInish बटन पर क्लिक करें।
    Google image
बधाई हो, आपने अपनी साइट पर OneSignal push notifications सफलतापूर्वक enable कर लिया हैं।

How to set add.txt file?
यदि आपको यह web push notifications tutorial पसंद आई है, तो इसे शेयर करना न भूलें!

19 मार्च 2019

9:47 am

how to add google analytics to youtube channel in hindi

हेल्लो दोस्तों आज में इस पोस्ट में यूट्यूब के लिए एनालिटिक्स अकाउंट कैसे बनाते ह इसके बारे में बता रहा हु

Analytic क्या है यह आप सभी लोग जानते ही होंगे यदी नही जानतें तो में बता देता हू। analytics account का उपयोग हम traffic report चेक करने के लिए करते हैं। analytics में traffic (overview) चेक करने के बहोत सारे feature हैं ओर हम अपने youtube चैनल में आ  रही traffic को अच्छे से जान सकते है। 

हम अपने channel की traffic report youtube channel में भी देख सकते हैं पर यहा पर कुछ ज्यादा option नहीं होते हैं । इसी लीए हम अपने channel ki traffic report ठीक से जानने के लिए  analytics का उपयोग कर सकते है । 

यूट्यूब चैनल के लिए google analytics account कैसे बनाएं
- सबसे पहले आप गूगल में जाकर गूगल में  गूगल एनालिटिक्स सर्च करें और गूगल एनालिटिक्स वेबसाइट पर जाएं
Google image

- अब नीचे दिए गए sign up बटन पर क्लिक कीजिए
- अब नेक्स्ट पेज ओपन होगा यहां पर भी आपको sign up बटन पर क्लिक करना है
- अब यहां पर आपको पूछा जाएगा कि आप गूगल anylaytics किस चीज के लिए बनाना चाहते हैं मोबाइल या वेबसाइट तो आप वेबसाइट choos कीजिए
- वेबसाइट पर क्लिक करने के बाद नीचे दिए गए फोर्म को ठीक से भरना  है
Google analytics form

- account name: यहां पर अपना या तो अपने चैनल का नाम ऐड कर दीजिए
- website name: यहां पर अपने यूट्यूब चैनल का नाम ऐड कर दीजिए
- website url: सबसे पहले आप वेबसाइट http:// की जगह पर https:// सेलेक्ट कर ले और उसके आगे अपने यूट्यूब चैनल का यूआरएल ऐड करे
- यहां पर अपने चैनल का कैटेगरी choos कीजिए और जो केटेगरी में आपकी चैनल नहीं है यह कैटेगरी इधर नहीं है तो आप other पर क्लिक कीजिए।
- reporting time zone: अब आप यहाँ पर रिपोर्टिंग टाइम जोन  में इंडिया सेलेक्ट करे
- अब आप नीचे के सभी चेक बॉक्स पर टिक करे वैसे तो सभी बॉक्स में पहले से ही टिक होता ह यदि नहीं ः तो आप टिक कर दीजिये
- अब आप नीचे get tracking id par click kare
- अब आपको गूगल एनालिटिक्स टर्म्स और सर्विस एग्रीमेंट दिखाई देगा आप  एक्सेप्ट पर क्लिक करे
- अब आपका गूगल एनालिटिक्स अकाउंट बन गया ह

नमस्कार दोस्तों आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो पोस्ट कमेंट बॉक्स पर कमेंट करें, फिर मैं आपके द्वारा मांगी गई किसी भी समस्या का जवाब दे सकूंगा।

16 मार्च 2019

1:54 pm

How to create video editing without watermark in kinemaster


KineMaster एक professional Android video editing app है, यह multiple layers को support करता है. Full Featurs से लेस इस app में आप आसानीसे videos को cut, split, trim कर सकते है, Green Screen जैसा advance option आपको यहापर मिलता है. 3D Transition, Royalty Free Music इस app में मिलता है.

03 मार्च 2019

3:32 pm

How to earn money in Facebook page? hindi


फेसबुक पेज यूज करके कैसे पैसे कमाए जाते हैं


यदि आप फेसबुक यूज करते हो , और पैसा कमाने की लगन है, तो आप घर बैठे या फिर पार्ट टाइम पैसा कमा सकते हैं। वो भी फेसबुक के जरिये। जी हां, जिस फेसबुक का आप दोस्तों से बतियाने और मित्रों का हाल-चाल लेने के लिये इस्तेमाल करते हैं, उसी से आप 25 से 30 हजार रुपए महीना कमा सकते हैं। खास बात यह है कि इसमें किसी निवेश की जरूरत नहीं। फेसबुक से आप जरूर परिचित होंगे। आप अपनी वॉल पर आये दिन अपनी पर्सनल या सोशल इमेज भी शेयर करते होंगे। और कभी-कभी अपने मन की बात रख देते होंगे, क्योंकि हर बार लॉगइन करने में फेसबुक पूछता है What's in your mind.... अगर आपके माइंड में क्रिएटिव आईडिया हैं, तो उन्हें आज ही एक्सप्लोर करें और जुट जायें पैसा कमाने में। और हां इसके लिये किसी भी डिग्री-डिप्लोमा की जरूरत नहीं। और अगर आप किसी कंपनी में नौकरी भी कर रहे हैं, तो भी फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि फेसबुक आपको करायेगा एक्स्ट्रा इनकम।
Google source

वैसे तो फेसबुक से पैसा कमारे के ढेरों तरीके हैं। इस सीरीज के इस पहले लेख में हम आपको सबसे आसान और सरल तरीका बताने जा रहे हैं।
किसी एक टॉपिक को सोचिये, जो आम लोगों की लाइफ से सीधा जुड़ा हुआ हो। फिर उसी टॉपिक से जुड़ा एक पेज क्रिएट करिये। साथ ही साथ एक ग्रुप भी। हम आपको बता दें कि ग्रुप की सीमाएं होती हैं, लेकिन पेज को लाइक करने की कोई सीमा नहीं। फिर किसी एक भाषा (जिस पर आपको कमांड हो) में पोस्ट करना शुरू करें।
ध्यान रहे, पोस्ट ऐसा होना चाहिये, जो ज्यादा से ज्यादा लोग शेयर करें। फिर इस टॉपिक पर ग्रुप में डिसकशन करिये और ज्यादा से ज्यादा राय बटोरिये। एक समय आयेगा, जब आपके पेज पर लाइक्स तेजी से बढ़ने लगेंगे। जब आपके लाइक्स 1 लाख से ऊपर निकल जायेंगे तब आपको इस पेज से लाभ मिलना शुरू होगा।
Gujarati joks
https://www.facebook.com/narendrabhat95/
ऐसे में आप कंपनियों से कॉन्टैक्ट करके, उनके आर्टिकल या फिर उनकी वेबसाइट का प्रोमोशन अपने पेज पर कर सकते हैं। ऐसा करने पर कंपनी आपको अच्छे दाम देगी।
अब आप सोच रहे होंगे कि इसमें कितनी आमदनी होगी, तो हम आपको बता दें कि 1 लाख लाइक वाले पेज या फिर 1 लाख फॉलोवर्स वाले ट्व‍िवटर हैंडल को कंपनियां 25 से 30 हजार रुपए महीना तक देती हैं।
अगर पैसा कमाने जा रहे हैं, तो कभी फेक अकाउंट से साइन अप मत करें। अपना फोन नंबर व अन्य डीटेल जरूर दें। आप अपने पेज से पैसा कमाने की सोच रहे हैं, तो उसे हर रोज अपडेट करें। क्योंकि कंपनियां कैम्पेन देने से पहले पेज चेक करती हैं।
फेसबुक पेज बनाने के बाद उसकी एनालिटिक्स का ज्ञान जरूर प्राप्त करें, नियमित अध्ययन करें और पेज के बारे में सभी जानकारियों से अपडेट रहें।
फेसबुक पर दिये गये फोन नंबर व ईमेल आईडी का वैरीफिकेशन जरूर करवायें। ऐसा नहीं करने पर आपका अकाउंट बंद हो 
आपके फॉलोवर्स समय-समय पर आपको मैसेज भेजेंगे, उनका रिप्लाई जरूर दें, इससे आपके फॉलोवर्स लॉयल होंगे।
अपने पेज पर क्रिएटिविटी जरूर शो करें, क्योंकि एक ही ढर्रे पर चलने वाले पेज को लोग अनलाइक कर देते हैं।

हेलो दोस्तों जो आपको यह लेख पसंद आया तो हमारे वेबसाइट को लाइक और सब्सक्राइब करें और अपने दोस्तों shere करे।

01 मार्च 2019

8:45 pm

How to add Like button Widget to Blogger



To add Like Button to Blogger posts:


1.Sign in to your Blogger account. In the Blogger Dashboard page scroll to the blog to which you want to add the Like Button.



2. Go to the "Template" section. Click the "Edit HTML" button.



3. Choose "Blog" from the "Jump to widget" drop down list.



4. Find in the HTML input box and expand the code snippet with the post:



<b:includable id='post' var='post'>



5. Find the <data:post.body/> HTML code tag(s). To save scrolling through lines of code, press "F3" on your computer keyboard to open the browser’s page search function. Enter the code tag into the search box to quickly find the correct code.



6. Generate your Like Button code using Like Button code generator


7. Insert expr:data-identifier='data:post.id' expression inside the first "span" element:

<span class="likebtn-wrapper" data-style="drop"

expr:data-identifier='data:post.id'/>


8. Paste created Like Button code in the template immediately after all occurrences of <data:post.body/> tag:
HTML code demo

12 जनवरी 2019

6:50 pm

How To Add Facebook Widgets & Buttons To Your Website in hindi

यदि आप एक Facebook उपयोगकर्ता हैं, तो आप पहले से ही जान सकते हैं कि आप अपने स्वयं के वेबसाइट, ब्लॉग या ईमेल में अपना badge जोड़ सकते हैं।  4 तरह से आप अपने फेसबुक अकाउंट को वास्तव में फेसबुक पर देखे बिना एक्सेस कर सकते हैं।

हाल ही में, मैं अपनी वेबसाइट पर फेसबुक को कई तरह से जोड़ना चाहता था - जिसमें मेरे visitor को मेरे article को "like" और निश्चित रूप से मेरे ब्लॉग पर अपने फेसबुक अपडेट को प्रदर्शित करना शामिल था। वास्तव में कई तरीके हैं जो आप अपनी वेबसाइट में फेसबुक को एकीकृत कर सकते हैं, या तो अपनी खुद की प्रोफ़ाइल जानकारी प्रदर्शित कर सकते हैं या अपने visitor को विभिन्न तरीकों से अपने स्वयं के फेसबुक जानकारी का उपयोग करने दे सकते हैं।

इस लेख में, मैं उन कुछ तरीकों को रेखांकित करने जा रहा हूँ, जिन्हें आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर विजेट्स और बटनों का उपयोग करके फेसबुक पर जोड़ सकते हैं। ये widgets और कोड snippets उन टूल के फेसबुक संग्रह से आते हैं जिन्हें आप अपनी इच्छित वेबसाइट पर उपयोग कर सकते हैं।


अपनी वेबसाइट पर अपनी प्रोफ़ाइल जानकारी प्रदर्शित करें

सबसे आम तरीका है कि लोग अपनी वेबसाइट पर फेसबुक को जोड़ते हैं, जो उनके प्रोफाइल "बैज" को प्रदर्शित करता है, आमतौर पर उनके ब्लॉग के बाएं मेनू में। यह सबसे आसान विकल्प भी है, क्योंकि यह प्रोफ़ाइल बैज क्षेत्र से कोड प्राप्त करने और इसे अपनी साइट में चिपकाने की बात है।
आपके Facebook "profile badge" पृष्ठ पर, आप देखेंगे कि बाईं ओर आपके पास widget के प्रकार के लिए कई विकल्प हैं, जिनका आप उपयोग करना चाहते हैं - जैसे badge, profile badge और Photo badge। मैं इनमें से प्रत्येक विकल्प को कवर करूंगा।

Profile badges सरल है, बस वह चुनें जहां आप अपना badge डालना चाहते हैं। वेबसाइटों के लिए या अपने ब्लॉग पर, "other" चुनें।

नीचे दिए गए क्षेत्र में HTML कोड को हाइलाइट करें और कॉपी करें, और फिर इसे अपने ब्लॉग या अपनी वेबसाइट पर पेस्ट करें जहां आप अपनी फेसबुक प्रोफाइल बैज डालना चाहते हैं। एक वर्डप्रेस ब्लॉग के लिए, जो कि मैं आमतौर पर उपयोग करता हूं, आप साइडबार पर एक टेक्स्ट / HTML विजेट में कोड डाल सकते हैं।

बस सहेजें पर क्लिक करें, और आपका प्रोफ़ाइल आपके ब्लॉग के साइडबार पर है। हर बार जब आप अपनी फेसबुक प्रोफ़ाइल अपडेट करते हैं, तो परिवर्तन आपके profile badge पर reflected होता है।

दो अन्य profile badge प्रकार हैं जिन्हें आप अपनी साइट पर रख सकते हैं - photo badge या like badge। photo badge आपके प्रोफाइल डिस्प्ले की तरह है, सिवाय इसके कि यह आपके प्रोफाइल अपडेट के बजाय आपकी सबसे हाल ही में जोड़ी गई तस्वीरों को प्रदर्शित करता है। "like" बैज बहुत अच्छा है क्योंकि यह उन साइटों को साझा करने का एक आसान तरीका है जो आप अपने visitor से सीधे फेसबुक पर like करते हैं।
आप अपनी प्रोफ़ाइल में "like औ dislike" की अपनी सूची में से किसी भी आइटम का चयन कर सकते हैं। यह उस entity के लिए फेसबुक पेज के लिंक के रूप में दिखाई देता है। उदाहरण के लिए, इस मामले में यह  band of brothers के लिए फेसबुक पेज से जुड़ा है
ये profile badge हैं जो लोग लंबे समय से उपयोग कर रहे हैं, लेकिन ऐसे शांत तरीके भी हैं जिनकी मदद से आप अपने वेबसाइट visitor को अपने फेसबुक अकाउंट को सीधे अपनी साइट से एक्सेस करने में मदद कर सकते हैं, और उम्मीद है कि प्रक्रिया में अपने सभी दोस्तों के साथ अपना URL साझा करें ।

Visitor को अपनी सामग्री shere करने में सहायता करें

अधिक उपयोगी फेसबुक विजेट "like" विगेट्स हैं जिन्हें आप अपने ब्लॉग पर अपने visitor को अपनी साइट पर लेख या सामग्री shere करने की अधिक आसानी से अनुमति दे सकते हैं जो उन्हें विशेष रूप से पसंद हैं। आपने अपनी पसंदीदा वेबसाइटों पर पहले ही फेसबुक "like" विजेट को देखा होगा, क्योंकि यह बहुत लोकप्रिय है।

बस फेसबुक विजेट पेज पर जाएं और वहां उपलब्ध होने वाले दो लाइक विजेट में से एक चुनें - एक सिर्फ एक मानक है जो पेज को पसंद करने वाले लोगों की गिनती के साथ लिंक है, और दूसरा एक लाइक बॉक्स है, जहां visitor पसंद कर सकते हैं आपका फेसबुक पेज (यदि आपके पास एक है)।

अपनी साइट के लिए लाइक बटन सेट करने के लिए, आपको बस URL प्रदान करना होगा और अपनी साइट पर उस क्षेत्र के लिए विजेट को अनुकूलित करना होगा जहाँ आप इसे रखना चाहते हैं। जब आप कर लें, तो बस "get code" पर क्लिक करें।

 यह widget आपकी अपनी वेबसाइट और फेसबुक समुदाय के बीच एक आदर्श संवाद बनाने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। जैसे ही आप फेसबुक समुदाय से अपनी वेबसाइट पर ट्रैफ़िक बढ़ाते हैं, आप इस विजेट को अपनी लोकप्रियता दिखाते हैं और और भी अधिक फेसबुक visitor को आकर्षित करते हैं।

ऐसे button और widget हैं, जिन्हें मैंने अपनी वेबसाइटों में फेसबुक को जोड़ने के लिए चुना है, लेकिन कोशिश करने के लिए अन्य widget हैं - इसलिए प्रयोग करें और देखें कि आपकी साइट के लिए कौन सा काम सबसे अच्छा है। क्या आपने अपने ब्लॉग से इनमें से किसी को आज़माया है? क्या आप किसी अन्य शांत विगेट्स के बारे में जानते हैं जो फेसबुक को आपके ब्लॉग में इन से भी बेहतर तरीके से एकीकृत करता है? नीचे comment box में अपनी राय shere करें।

09 जनवरी 2019

7:19 am

What is domain? (डोमेन नाम क्या है? ? जानिए उनकी संबंधित कहानियां ।)

Https://ngallinone.co.in
अगर आप इंटरनेट में अपनी खुद की वेबसाइट बनाना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले एक डोमेन नाम खरीदना होगा। इंटरनेट की दुनिया में किसी भी वेबसाइट की पहचान करने के लिए, एक वेब पते या नाम का नाम दिया गया है। इस माध्यम से दुनिया भर के लोग आपकी वेबसाइट पर पहुँच सकते हैं।

जैसे हमारे मोबाइल की पहचान उसके नंबर से होती है, वैसे ही एक वेबसाइट की पहचान उसके वेब एड्रेस से होती है। जैसे “www.googel.com” और “www.yahoo.com" को एक डोमेन नाम कहा जा सकता है। इसके अलावा, आपकी पसंदीदा वेबसाइट "facebook" में एक डोमेन नाम www.facebook.com है।

सभी वेबसाइटों के लिए इसके अलग-अलग नाम हैं। जब कोई वेबसाइट हिंदी के अलावा किसी अन्य भाषा में लिखी जाती है, तो वह एक अलग भाषा में लिखी जाती है, जिसे आपको समझ में नहीं आने पर उसका आईपी पता दिया जाता है। आँकड़े उल्लिखित हैं। जब हम इंटरनेट ब्राउजर में किसी वेबसाइट का डोमेन नाम रखते हैं, तो वह इसे आईपी एड्रेस में डोमेन नेम सर्वर पर बदल देता है और हम उस संबंधित वेबसाइट पर पहुंच जाते हैं। भारत में हमारे डोमेन नाम के लिए दो सबसे प्रसिद्ध कंपनियां बेहतर सुविधाएं प्रदान करती हैं। 1। GoDaddy और 2 Bigrock।

डोमेन नाम के लिए एक वर्ष का शुल्क 100 रुपये से 500-600 तक हो सकता है। डोमेन नाम में एक अलग एक्सटेंशन है। एक्सटेंशन का अर्थ जैसे कि .com.

.edu: स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के लिए, 
.gov: सरकारी कार्यों के लिए। 
.net: नेटवर्क के लिए। 
.mil: सेना के लिए। 
इसके अलावा, विभिन्न देशों के लिए विभिन्न प्रकार हैं जैसे कि  
.in: के लिए, भारत 
.Gb: ग्रेट ब्रिटेन के लिए, 
.Au: ऑस्ट्रेलिया के लिए, 
.us: संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए, 
.pk: पाकिस्तान के लिए और 
.fr: फ्रांस के लिए

04 जनवरी 2019

4:32 pm

How to create your website ( जानिए हिंदी में वेबसाइट कैसे बनाये ).

Third party reference image
अधिकांश ग्राहक इंटरनेट पर आपके व्यवसाय को खोजने में सक्षम होने की उम्मीद करेंगे। चाहे आप अपने उत्पादों को ऑनलाइन बेच रहे हों, या बस अपने व्यवसाय और अपने संपर्क विवरण के बारे में कुछ जानकारी प्रदान करना चाहते हों, एक वेबसाइट का होना लगभग आवश्यक है।

          यह सोचने के लिए एक अच्छा विचार है कि आप अपनी वेबसाइट बनाने से पहले क्या हासिल करना चाहते हैं। अपने प्रतिद्वंद्वियों की वेबसाइटों पर शोध करने से आपको यह पता लगाने में मदद मिल सकती है कि आपके लिए सबसे अच्छा काम क्या हो सकता है।

वेबसाइट बनाने के लिए, आपको 4 बुनियादी चरणों का पालन करना होगा।

1. अपना डोमेन नाम पंजीकृत करें

            आपके डोमेन नाम को आपके उत्पादों या सेवाओं को प्रतिबिंबित करना चाहिए ताकि आपके ग्राहक खोज इंजन के माध्यम से आपके व्यवसाय को आसानी से पा सकें। आपके ग्राहक भी उम्मीद कर सकते हैं कि आपका डोमेन नाम आपके व्यवसाय के नाम के समान हो।

          आपके डोमेन नाम का उपयोग आपके ईमेल पते के लिए भी किया जाएगा। जब आप हॉटमेल जैसे मुफ्त ईमेल पते का उपयोग कर सकते हैं, तो व्यावसायिक पते से ईमेल भेजना अधिक पेशेवर लगता है।

             अपने डोमेन नाम को पंजीकृत करने के लिए, आपको एक मान्यता प्राप्त रजिस्ट्रार खोजने और शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता होगी। मान्यता प्राप्त रजिस्ट्रार ऐसे संगठन हैं जो ऑस्ट्रेलियाई डोमेन नाम व्यवस्थापक auDA द्वारा अधिकृत हैं, ऐसे लोगों को सेवाएं प्रदान करते हैं जो एक नया डोमेन नाम पंजीकृत करना चाहते हैं, अपने मौजूदा डोमेन नाम को नवीनीकृत करते हैं, या अपने डोमेन नाम रिकॉर्ड में बदलाव करते हैं।

2. एक वेब होस्टिंग कंपनी का पता लगाएं
         इंटरनेट पर अपना डोमेन नाम प्राप्त करने के लिए आपको एक वेब होस्टिंग कंपनी ढूंढनी होगी। अधिकांश प्रमुख इंटरनेट सेवा प्रदाता वेब होस्टिंग सेवाएं प्रदान करते हैं। वे आपको कई ईमेल पते भी प्रदान कर सकते हैं।

        वेब होस्टिंग के लिए मासिक शुल्क आपकी वेबसाइट कितनी बड़ी है और आपको कितनी यात्रा मिलती है, इस पर निर्भर करता है।

3. अपनी सामग्री तैयार करें
                इस बारे में सोचें कि आप क्या चाहते हैं कि आपके ग्राहक आपकी वेबसाइट के माध्यम से कर सकें। इससे आपको यह पता लगाने में मदद मिलेगी कि आप किन वर्गों या पृष्ठों को शामिल करना चाहते हैं। इस बात पर विचार करें कि आपके ग्राहक क्या जानकारी या लेन-देन करना चाहते हैं और सुनिश्चित करें कि साइट को संरचित करना आसान है, ताकि उन्हें उन चीजों को खोजने और करने में आसानी हो, जिनकी उन्हें जरूरत है।

           जैसे आप अपनी साइट को डिजाइन करने के लिए एक पेशेवर को काम पर रख सकते हैं, वैसे ही आप अपनी सामग्री को लिखने और संरचना करने के लिए एक पेशेवर को काम पर रखने पर भी विचार कर सकते हैं।

           एक वेबसाइट जो अच्छी तरह से डिज़ाइन की गई है और ग्राहकों के लिए उपयोग करने में आसान है, आपके व्यवसाय को खड़ा करने में मदद करेगी। प्रासंगिक और उपयुक्त सामग्री और छवियां होने से ग्राहकों को आपके उत्पादों और सेवाओं को समझने में मदद मिलेगी और उन्हें आपके व्यवसाय से खरीदने में आसानी होगी।

4. अपनी वेबसाइट बनाएँ
       आप अपनी खुद की वेबसाइट बना सकते हैं या आपके लिए एक पेशेवर वेब डेवलपर बना सकते हैं। वेबसाइटों को अद्यतित रखने की आवश्यकता है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप चल रहे रखरखाव के लिए योजना बनाते हैं।

       आप अपनी खुद की वेबसाइट बनाने के लिए वेबसाइट प्रकाशन पैकेज का उपयोग कर सकते हैं। ये वर्ड प्रोसेसर के समान हैं, लेकिन आपके टेक्स्ट और छवियों को वेब सामग्री में बदलने और इसे आपकी वेबसाइट पर भेजने के लिए इनबिल्ट फीचर्स भी हैं।

       यदि आप ऑनलाइन व्यवसाय में नए हैं तो किसी और के लिए वेबसाइट बनाना एक अच्छा विचार है। एक पेशेवर वेब डेवलपर आपकी साइट को जल्दी से बना सकता है और सफल वेब डिज़ाइन पर मार्गदर्शन प्रदान कर सकता है। यदि आप एक ऑनलाइन दुकान होने या अपनी वेबसाइट के माध्यम से अन्य सेवाओं की पेशकश कर रहे हैं, तो एक पेशेवर को किराए पर लेना विशेष रूप से उपयोगी हो सकता है।

     आपको अपनी वेबसाइट डिजाइन करने की आवश्यकता होगी ताकि इसे स्मार्टफोन और अन्य मोबाइल उपकरणों पर आसानी से उपयोग किया जा सके। मोबाइल उपयोग के लिए अपनी वेबसाइट का अनुकूलन करने का मतलब है कि इंटरनेट तक पहुंचने के लिए फोन और टैबलेट का उपयोग करने वाले लोगों की बढ़ती संख्या आपकी साइट का उपयोग कर सकते हैं, जबकि वे बाहर और इसके बारे में हैं।

वेबसाइट बनाने के लिए उपयोगी टिप्स
  • इस बारे में सोचें कि आपके ग्राहक क्या जानना चाहते हैं, न कि सिर्फ वही जो आप उन्हें बताना चाहते हैं।
  • आपकी मदद के लिए पेशेवरों का उपयोग करें। एक अव्यवसायिक वेबसाइट संभावित रूप से ग्राहकों को बंद कर सकती है।
  • अपनी वेबसाइट को नियमित रूप से अपडेट करें, खासकर यदि आप अपनी कीमतों के बारे में जानकारी शामिल करते हैं।
  • सुनिश्चित करें कि आपके ग्राहकों के लिए आपके संपर्क विवरण सही और आसान हैं।
  • अपनी मार्केटिंग सामग्री में अपनी वेबसाइट को बढ़ावा दें और इसे अपने व्यवसाय कार्ड में शामिल करें।
  • पता करें कि आप अपनी वेबसाइट को Google जैसे खोज इंजन के लिए कैसे आसान बना सकते हैं। इसे सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) कहा जाता है। एक वेब डेवलपर आपकी वेबसाइट के लिए SEO में आपकी मदद कर सकता है।

30 दिसंबर 2018

10:25 pm

What is Adsense And how to Apply for Adsense after creating Blog ?



Everyone wants to make money by making a blog. But if you also want to earn money from blogs and be a new blogger, then wait a bit for this and see what are the drawbacks in your blog. So in this post we will tell you how to Apply for Adsense after creating "Blog.This mistake happens to many people and I also had these mistakes. After creating the blog and apply for Adsense after writing 2-3 post in it.

Google image

So often the new blogger does this so that Adsense gets 100% Disapprove. Those who are a new blogger, would like to say to them that do not wish for the fruits before working hard. After creating a blog, do not think that making money from a blog, rather think that the blog is a success and can be successful only by hard work.


What is Adsense?

Adsense is an Advertising Network. This is a service from Google. It gives you money to click on ads. You will need a blog to earn money from Adsense. You have to add Adsense Ads code to your blog and you'll add an adsense code to that place and Ad will show up on your ads and whenever any visitor clicks these ads, you will have an income. Apart from this, you can make money by uploading videos on Youtube and putting Adsense Ads in it.

What is Adsense ? And how to Apply for Adsense after creating Blog ?
Google image

If you do not know much about Adsense, then we can tell you that the rules of Adsense are very strict. If there is a decrease in your site then your adsense account will be disapproved.


When to Apply for Adsense after Creating a Blog?

Now you are going to tell you some tips that you can follow by following Adsense Account.
What is Adsense ? And how to Apply for Adsense after creating Blog ?
Google image


1.Traffic
It is very important that the traffic of your blog is good. Your blog should have Daily pageviews of Google minimum 500, then you can apply for Adsense. I suggest you first increase traffic to your website then apply for Adsense.
2.content
The information that you share in your blog is called content. Your blog should have minimum 20 posts and each post should have no fewer than 1000 words. Your post should be written by you, meaning 100% should be original.
3.Author Talent
When you apply for Adsense, the Adsense team reviews your blog and sees how it is written in the post you wrote. And he will try to get all the information about you.
4.create sitemap
Create a sitemap for your blog. Submit it to popular search engines. This will index your site in search engines and traffic will be high. When you get more traffic from the search engine such as the minimum 500 Daily visitors with search engine, you understand that your Adsense account will not take time to be approved.
What is Adsense ? And how to Apply for Adsense after creating Blog ?
Google image

5.SEO
Before applying for Adsense, submit it to Google, Yahoo, and Yandex in a search engine. This will increase traffic to your blog and soon Adsense will be approved. I have seen so many success blogger and high adsense earner bloggers who just follow SEO. If you are a blogger you need to know more about SEO. If you do not know much about SEO then you can read related post from SEO.
6.blog design
It's good if your blog's design is simple. So fast loading and good to see. And add some necessary widgets to it too. You may have seen many such blogs in which Design is very colorful but you must have seen also how slow loading time is.
7.Bounce rate
Bounce rate means how long your visitors stay in your site, how much they appreciate the information you give them. Your site's bounce rate should be low. I have written a post about it


You can learn this easily by following this post and reducing the bounce rate.

8. Global & traffic rank
Your blog's Global rank should be good and your site's traffic rank is also very good. If you want to know the traffic rank of your blog, if your blog has been verified in Alexa then you can go to Alexa's site and find your site and check its global and traffic rank.
9.Copyright
All posts in the blog should be written by you. Meaning that the content you put in the blog should not be copied from it and if you use the image in the blog then it should also be made or edited by you. If the Adsense team gets any content copyright in your blog, Adsense will be disapproved.
10. Some Pages
It is very important to have some necessary pages in your blog. Like it is important to have About us, Privacy and Policy, contact us and Disclaimer Page.


If you do not create these pages then Adsense will have trouble knowing about you so that they can disapprove your account.


I hope you enjoy this information. If you have any problem in this, tell me in comment and share this post in social media so that your friends can also take advantage of this post.