Trending

science and technology लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
science and technology लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

25 मार्च 2019

10:10 am

अगर कोई व्यक्ति जहर खा ले तो तुरंत करें यह 1 काम - बच सकती है मरीज की जान

दोस्तों कैसे हैं आप लोग, इस दुनिया में हर किसी के जीवन में समस्याएं अवश्य है और इसी का नाम जिंदगी है कई लोग अपने जीवन की परेशानियों से हार मान कर अपने जीवन का ही अंत करने का निर्णय ले लेते हैं जो जीवन की सबसे बड़ी भूलों में से एक होती है, आज के युवाओं में भी खुदकुशी की वारदातें बहुत ज्यादा हो रही है बहुत बार ऐसा सुनने को मिलता है कि किसी विद्यार्थी ने परीक्षा के दबाव में आकर जहर खा लिया या फिर किसी युवा या युवती ने अपने पसंद के लड़के या लड़की से शादी ना होने की वजह से जहर खा लिया और अपने जीवन का अंत कर दिया ।


पर जहर खाकर जीवन का अंत करना कोई हल नहीं है क्योंकि समझदार व्यक्ति वही है जो अपने जीवन की परेशानियों से लड़ कर उसे हराए पर यदि कोई व्यक्ति जहर खा लेता है तो उसे अस्पताल ले जाना बहुत ही जरूरी हो जाता है पर कई बार अस्पताल लंबी दूरी में होते हैं और वहां तक पहुंचते-पहुंचते मरीज की जान भी अक्सर चली जाती है पर यदि आप घर के कुछ प्राथमिक उपचार अपनाएं तो उस व्यक्ति को कुछ समय तक ज्यादा जिंदा रखा जा सकता है और उसकी जान बचाई जा सकती है तो चलिए जानते हैं कि क्या है वह उपाय ।
Google image


जहर खाए हुए मरीज को तुरंत दें यह घरेलू उपचार

1) यदि कोई व्यक्ति जहर खा ले तो उसे उल्टी करानी बहुत जरूरी होती है ताकि उल्टी के साथ उस व्यक्ति के पेट में जहर है वह बाहर आ जाए और उसके लिए आपको करना यह है कि आप थोड़ी सी राई लेकर उसे पीस ले और पीसी हुई राई को पानी में मिलाकर अच्छी तरह घोल बना दे और एक एक चम्मच करके उस मरीज को पिलाएं 5 मिनट के बाद वह व्यक्ति उल्टी कर देगा और पेट में मौजूद जहर उल्टी के द्वारा बाहर आ जाएगा ।

2) उल्टी कराने का एक और उपचार बहुत ही कारगर है जिसमें आपको 2 गिलास पानी में लगभग एक मुट्ठी नमक मिलाना है और उसे अच्छी तरह घोलकर उस व्यक्ति को पिला देना है ज्यादा नमक वाले पानी के कारण वह व्यक्ति उल्टी कर देगा और उल्टी के द्वारा पेट में जमा जहर भी बाहर आ जाएगा और इस प्रकार उस व्यक्ति जान बचाने के लिए आपको ज्यादा समय मिल जाएगा और वह ज़िंदा अस्पताल पहुंच पाएगा ।


दोस्तों, यदि आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो लाइक का बटन जरूर दबाएं कमेंट में आज युवाओं में हो रही खुदकुशी की समस्याओं के बारे में आप क्या कहना चाहते हैं कमेंट में जरूर लिखें और यदि ऐसी ही जरूरी जानकारियां आप रोज पाना चाहते हैं तो ऊपर दी गई फॉलो बटन को जरूर दबा दें आपका दिन शुभ हो, धन्यवाद ।

04 मार्च 2019

9:48 am

दुनिया कि सबसे शक्तिशाली 10 मिसाइलें || world top ten missile


       हम 21वीं शताब्दी में परमाणु बम और मिसाइलों के युग में रह रहे हैं. दुनिया में सबसे शक्तिशाली मिसाइलों में से कुछ मिसाइल रूस, चीन अमरीका और भारत के पास हैं. इसमें कोई संदेह नहीं है कि इंटर-कॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल प्रौद्योगिकी का भविष्य है.
      द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान, संयुक्त राज्य अमेरिका और सोवियत संघ हथियार बनाने के दौड़ में बड़ी संख्या में रक्षा सामग्री का उत्पादन कर रहे थे. दुनिया में शान्ति बनाए रखने के लिए राष्ट्रों ने परमाणु बम और परमाणु हथियारों को लेकर विभिन्न संधियों पर हस्ताक्षर किए हैं.
Google source

       लेकिन, अभी भी बड़ी संख्या में हर साल मिसाइल ओर परमाणु बम का उत्पादन होता है. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं कि दुनिया की 7 सबसे खतरनाक मिसाइल कौन सी हैं, इनकी मारक क्षमता क्या है और इनके निर्माण में किन तकनीकों का इस्तेमाल किया गया है इत्यादि.

ब्रह्मोस

     दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस मिसाइल ने भारतीय वायु सेना की ताकत काफी बढ़ा दी है। इसे डीआरडीओ ने रूस के साथ ब्रह्मोस एयरोस्पेस नाम के जॉइंट वेंचर के माध्यम से विकसित किया है। ब्रह्मोस को धरती, समुद्र या हवा कहीं से भी लॉन्च किया जा सकता है। इस मिसाइल की रफ्तार ध्वनि की गति से भी तीन गुना ज्यादा है। हाल में इसकी रेंज 290 किमी. से बढ़ाकर 450 किमी. की गई थी। यह मिसाइल कम ऊंचाई पर उड़ान भरती है और रडार की पकड़ में नहीं आती। 
         ब्रह्मोस का 12 जून, 2001 को सफल लॉन्च किया गया था। इसका नाम भारत की नदी (ब्रह्मपुत्र) और रूस की नदी (मस्कवा) को मिलाकर रखा गया है। दुनिया में किसी भी एयर फोर्स के लिये यह मिसाइल गेम चेंजर साबित हो सकती है। 22 नवंबर, 2017 को भारत ने लड़ाकू विमान सुखोई से इस विमान को सफलतापूर्वक दागा। दागी जाने वाली इस मिसाइल का वजन 2.5 टन था। यह सुखोई विमान पर तैनात किया जाने वाला अब तक का सबसे भारी हथियार था। 


निर्भय मिसाइल

       निर्भय मिसाइल 300 किलोग्राम परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम है और 1000 किलोमीटर के दायरे में स्थित ठिकानों को निशाना बना सकती है। इसके अलावा यह काफी नीची ऊंचाई पर भी उड़ सकती है। निर्भय क्रूज मिसाइल हर मौसम में काम कर सकती है। मिसाइल के सटीक निशाने के लिए इसमें बेहद उच्च स्तरीय नेवीगेशन सिस्टम लगा है. 


LGM-30 Minuteman, अमेरिका

        LGM-30 Minuteman एक अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) है। 13,000 किलोमीटर की दूरी तक मार करने वाले यह मिसाइल एक साथ 3 परमाणु हथियारों को ले जाने में सक्षम है। यह एक साथ ही तीन अलग-अलग ठिकानों को तबाह कर सकता है। अमेरिकी सेना ने इसे ट्राइडेंट मिसाइल सिस्टम से लैस करके दुनिया की सबसे मारक मिसाइल बना दिया है। फिलहाल ये अमेरिकी सेना में शामिल इकलौती अंतरमहाद्वीपीय मिसाइल है।


R-36, रूस

         यह दुनिया की सबसे लंबी दूरी तक मारे करने वाली मिसाइल है। 8 किलोमीटर प्रति सेकेंड की रफ्तार से चलने वाली यह मिसाइल 16 हजार किलोमीटर तक लक्ष्य को भेद सकती है। परमाणु हथियारों के अलावा दुनिया की सबसे ज्यादा विस्फोटक अपने साथ ले जाने में सक्षम मिसाइल भी है। यह अपने साथ 550 किलोग्राम वजनी परमाणु बम ले जाने में सक्षम है। ये एक साथ 10 से ज्यादा ठिकानों पर निशाना साधने में रक्षम है। इसे शुरुआत में अंतरिक्ष कार्यक्रमों के लिए बनाया गया था, लेकिन बाद में मारक मिसाइल में तब्दील कर दिया गया। 


DF-41, चीन

           इस मिसाइल की मारक क्षमता 14 हजार किलोमीटर है। 8.16 किलोमीटर प्रति सेकेंड की स्पीड से चलने वाली यह मिसाइल दुनिया की दूसरी सबसे लंब दूरी तय कर मार करने वाली मिसाइल है जिसें चीन ने बनाया है। चीन इसी मिसाइल के दम पर अमेरिका, जापान और भारत समेत पूरी दुनिया को आंख दिखाता है।


M51, फ्रांस 

            फ्रांस द्वारा निर्मित यह M51 एसएलबीएम यानि बैलिस्टिक मिसाइल है। यह ईएडीएस एस्ट्रियम अंतरिक्ष परिवहन द्वारा डिजाइन किया गया था और फ्रांसीसी नौसेना द्वारा प्रयोग किया जाता है। यह मिसाइल अपने साथ 8 से 10 थर्मोन्यूक्लियर हथियार ले जाने में सक्षम है और इसे पानी के अंदर पनडुब्बी से भी दागा जा सकता है। 


UGM-133 Trident ll, अमेरिका

             अमेरिकी हथियार निर्माता कंपनी लॉकहीड मार्टिन की ओर से विकसित की गईं ये बैलिस्टिक मिसाइल पानी से भी दागी जा सकती हैं। चीन की DF-41 से इतर ये मिसाइल पनडुब्बियों पर भी तैनात हैं, जिनकी जद में पूरी दुनिया है। इस मिसाइल का इस्तेमाल सिर्फ अमेरिका और ब्रिटेन की रॉयल नेवी करती है। परमाणु हथियारों से लैस ये मिसाइल एक साथ कई लक्ष्यों को भेदने में सक्षम है। 1983 में विकसित इस मिसाइल को अमेरिकी और ब्रिटिश सेना 1990 से इस्तेमाल कर रहे हैं, जिनकी मारक क्षमता 7840 किलोमीटर तक है।


Jericho lll, इजरायल

              इजरायल की हथियार प्रणाली बेहद गोपनिय होती है और जनता के बीच इनकी जानकारी बेहद कम है। Jericho lll इजरायल द्वारा निर्मित अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईएसबीएम) है। यह लगभग परमाणु हथियारों सहित 1000 किलो का विस्फोटक ले जा सकता है। इसकी रेंज 2000 किमी से लेकर 11,500 किलोमीटर तक होने का अनुमान लगाया गया है।


Tomahawk, अमेरिका

            इस मिसाइल का उपयोग अमेरिका ने अफगानिस्तान और इराक युद्ध में किया था। टॉमहॉक क्रूज मिसाइल मध्यम से लंबी दूरी तक मार करने की सबसे खतरनाक मिसाइल है। टॉम हॉक 1500 किलोमीटर की दूरी से अपना लक्ष्य साध कर हमला करती है। इस मिसाइलों को पकड़ पाना बेहद मुश्किल है, जो छोड़े जाने के महज कुछ ही देर में अपने लक्ष्य को तहस नहस कर देती हैं। टॉमहॉक ने सबसे पहले 1991 के खाड़ी युद्ध में अपना जौहर दिखाया था। 

Google source

V-2 Rocket, जर्मनी

         वी -2 रॉकेट को आज के मिसाइल और रॉकेट टेक्नोलॉजी का अगुआ कहा जाता है। यह इंसानों द्वारा बनाया गया पहला रॉकेट था जो अंतरिक्ष में प्रवेश करने में सक्षम था। इसे नाजी शासन में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान बनाया गया। जर्मनी ने इसका इस्तेमाल लंदन और एंटवर्प में बमबारी के लिए किया था। कहा जाता है कि 3000 वी-2 राकेट ने करीब 9000 लोगों को मारा था। इसके अलावा इसे बनाने के दौरान यातना शिविरों में मौजूद 12 हजार मजबूर मजदूरों की मौत हो गई। 

13 जनवरी 2019

11:05 pm

Some exciting things related to the Earth and body

Hello friends welcome to ngallinone,  Now we are read some existing things related to the earth

The complexity of our planet, indicates that by thinking it a lot, the creator has composed it. And not only has it been composed, but it has also been maintained till date.
Third party reference image

Earth - Its size is absolutely perfect / correct. Due to the size and gravity of the earth, the thin layer of nitrogen and oxygen gas is spread to the surface of the earth for 50 miles. If the Earth was a little too small, like the planet Mars, it would be impossible to maintain the atmosphere. And if the Earth were large, in its environment, like the Jupiter Planet, hydrogen would increase. Only the Earth is such a supposed planet known as the atmosphere is equipped with a mixture of right gases and due to which vegetation, animals and human life are safe is.

The distance from the sun to the earth is also absolutely correct. Broadly, the temperature varies from -30c° to +120c°. If the earth was more distance from the sun, then everything would be accumulated like snow. If the Earth was closer to the Sun, then everything would burn with heat. If the earth's position from the sun was different then life on earth is not possible. The Earth revolves around it at a speed of 67,000 miles per hour. Earth rotates on its smoke, gives the whole summer the right heat and coolness to the whole earth, due to the earth's gravitational power, the size and distance of the Moon remains true. Due to the motion of the moon, there is a bustling sea and tides come in.Because of this, sea water does not stop at one place and does not continent dip it.

Water - Despite being an odorless and flavorless substance, a living creature can not live without water. The water content of vegetation, animal and human body is highest ( approximately 2/3 part the human body is water) See how the features / properties of water are suitable for our lives.
Third party reference image

There is a large range between water boiling and freezing temperatures. Nearly 2/3 of water retains a stable temperature of 98.6 degrees in our body, due to which we can remain well in the atmosphere of increasing / decreasing temperature.

water is a universal solvent. This quality means that water transports many essential chemicals, minerals and nutrients everywhere in our body, even in smaller blood vessels.

There is a unique tension in the water surface. Therefore, water in trees and plants goes up against gravity, even in tall and tall trees, the nutrients and life giving water go up to the very top.

Water accumulates from top to bottom and floats on the surface so that the fish can stay in the water.

97 percent of the earth's water is in the sea. But on our soil, there is a system that separates salt from water and then distributes water to the world. By evaporation of vaporization (evaporation-evaporation), by changing the salt, sea water turns into a cloud and is distributed to the whole land by vegetation, animals and humans for air. This is a refining and supply system that keeps life on our planet - a recycled and reuse system of water.

Human brain - it processes many amazing information together. Whatever colors or things we see, the temperature around us, the pressure of our feet on the earth, the voices of our surroundings, the dryness of our mouth, our brain / brain all these and our feelings, thoughts and memories Holds and processes them. Along with this, it also takes care of our physical actions, such as: the pattern of our breathing, the blink of eyelashes, the hunger, the movement of the muscles of our hands, etc.
Third party reference image

The human brain sends millions of messages in one second. It trims the message out of unnecessary messages. This investigation of the work allows us to operate effectively, operate in the world. Expecting the rest of the body, the brain works differently. It involves intelligence, logical ability, creating emotion, thinking, planning, taking action, making relationships with other people.

Eye - it can distinguish between seven million colors. It focuses on automatic focus, and handles around 1.5 million messages every day - at the same time! Evolution / successive evolution focuses on the mutation and change happening within the organism. Even then, progressive evolution could not fully explain why the existence of the eye or the brain started, or the living creature of non-living matter, began.

Friends if you like my post so please shere your friends group in and like it.

10 जनवरी 2019

8:44 am

The body seems to give up before cancer, these 3 signal - do not ignore at all

How are you guys? In today's world, cancer like illness is increasingly growing, whether poor people or big film stars, everyone is troubled by this disease, and many people have lost their lives from this disease, but if this disease If this is detected in the beginning, then this disease can be treated, so today we are going to tell you three signs before getting cancer, which gives the body to you. Ignore it.
Google source

Never underestimate this 3 signal

1) Blood and piss - If your body is getting blood and piss from anywhere, then this is not an auspicious sign to tell you that when there is skin cancer in the body. So blood and piss are released and this is a sign of skin cancer, so you should immediately check with the doctor if you have any such problem.
Google source

2) Blood in the urine - If you have too much irritation or pain in urinating or bleeding with your urine, then it is an indication that you may have prostate cancer, so you should be able to get as soon as possible from a good cancer doctor. Your checkup should be done.
Google source

3) Blood with cough - If you have been coughing for a long time and you are not going to go and you get coughing from your mouth, it is a sign that you can have lung cancer, so you have to do without delay. Your checkup should be done by a good cancer doctor.
Google source

Friends, if you are working this information, then press the button of Shere. If you want to ask us a few questions then you can ask in the comment. We will definitely answer your questions and follow our channel so that you can get the necessary information every day. Can you get your day auspicious, thanks.

26 दिसंबर 2018

10:43 am

🏃‍♀ *शरीर से जुड़े Interesting facts जो ज्यादातर लोग नहीं जानते* 🏃‍♂



*_ सामान्य ज्ञान_*

⚡ हर इंसान के शरीर के अंदर लगभग 62,000 मील (mile) की रक्त धमनियां (Blood vessels) होती हैं. अगर इन्हें एक-दूसरे से जोड़ा जाये तो ये पूरी पृथ्वी के लगभग ढाई चक्कर लगा सकती हैं.

⚡ कान और नाक हमारे शरीर के ऐसे अंग है जो जिन्दगी भर बढ़ते रहते हैं

⚡ हमारे मुंह में बैक्टीरिया (Bacteria) की संख्या पूरी दुनिया में रह रहे लोगों की तुलना में अधिक है.

⚡ हर इंसान का दिल (Heart) रोजाना लगभग 100,000 बार धड़कता है.

⚡ अगर 5 minute के लिए भी हमारे दिमाग तक ऑक्सीजन (oxygen) न पहुंचे तो brain damage हो सकता है.

⚡ सिर्फ एक घंटे हैडफ़ोन लगाने से हमारे कान में बैक्टीरिया की संख्या लगभग 100 गुना तक बढ़ जाती है.

⚡ हमारे पेट में बनने वाला अम्ल (acid) इतना तेज होता है कि वह ब्लेड को भी आसानी से गला सकता है।

⚡ इंसान के शरीर के भार (weight) का लगभग दो-तिहाई भार सिर्फ पानी का है। इसमें खून का 92 % पानी, मस्तिष्क (Brain) का 75 % पानी और मांसपेशियों का 75 % पानी शामिल होता है

⚡ हम कोई भी वस्तु अपनी आँखों से नहीं बल्कि अपने दिमाग की मदद से देख पाते है. आँख सिर्फ इनफार्मेशन को लेने का काम करती है और हमारे दिमाग तक पहुचाती है.
*आपको ये  सामान्य ज्ञान अच्छे लगे तो शेयर करें    👇