Trending

india लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
india लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

29 मार्च 2019

9:30 am

The world's richest temple, दुनिया का सबसे अमीर मंदिर, अरबों का है खजाना

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे चैनल पर। 
इंडिया एक धार्मिक देश है। लोगों की भगवान के प्रति गहरी आस्था और विश्वास के कारण ही इंडिया के हर इलाके में एक मंदिर पाया जाता है। इंडिया में वैसे तो हर धर्म और समाज के लोग रहते है, लेकिन सभी की भगवान की प्रति पूरी श्रद्धा है। भगवान के प्रति समर्पित श्रद्धालुओं द्वारा मंदिरों में इतना अधिक दान किया जाता है, जिससे करोंड़ों लोग अमीर बन जाए। हम आपको अब उस मंदिर के बारे में बताते है, जो की दुनिया का सबसे अमीर मंदिर है।

पद्मनाभस्वामी मंदिर, तिरुवनंतपुरम

पद्मनाभस्वामी मंदिर, तिरुवनंतपुरम

केरल राज्य के तिरुवनंतपुरम शहर में स्थित भगवान श्रीविष्णु को समर्पित पद्मनाभस्वामी मंदिर भारत का ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया का सबसे अमीर मंदिर है। तिरुवनंतपुरम केरल की राजधानी है, जो अपनी प्रसिद्ध और आरामदायक नाव की सवारी के लिए भी जाना जाता है। यह मंदिर द्रविड़ शैली की वास्तुकला में बनाया गया है, जो दक्षिण भारत में प्रचलित है। मंदिर के अंदर के स्थित कलशों को हाल ही में खोला गया था। ये सोने, चांदी और हीरों से भरे हुए मिले है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि खजाने की कीमत 1 ट्रिलियन डॉलर है, जो कि भारत के सबसे अमीर व्यक्ति और जिओ के मालिक अनिल अंबानी की कुल संपत्ति से भी अधिक है। पद्मनाभस्वामी मंदिर में श्रद्धालुओं की गहरी आस्था और श्रद्धा ही है कि वे यहां दर्शन के लिए आते है और अरबों रूपए का दान करते है। ऐसा भी अनुमान लगाया जा रहा है कि किसी भी और मंदिर में इतनी अधिक धनराशि कभी भी नहीं हो सकेगी। इस मंदिर की संपत्ति लगातार बढ़ती भी जा रही है।

दोस्तों आप भी पद्मनाभस्वामी मंदिर के दर्शन के लिए अवश्य जाए। यदि आपको यह खबर पसंद आई तो लाइक करें और जय श्री कृष्ण कमेंट करें। हम आपके लिए रोचक तथ्यों से जुड़ी खबरों को हमेशा इसी तरह लाते रहेंगे। आप सभी का दिन शुभ रहे... राधे...राधे...।। धन्यवाद ।।

28 फ़रवरी 2019

9:27 pm

क्या है धारा 370 ? और कैसे देश को दो हिस्सों में बांटती है।

       क्या है धारा 370 जो जम्मू-कश्मीर के नागरिकों को अन्य भारतीयों से अलग अधिकार देती है जम्मू-कश्मीर और वहां की राजनीति में क्या खास बात है। वह भारत से किस तरह अलग है। जम्मू-कश्मीर राज्य को कुछ विशेष अधिकार मिले हैं। और यह धारा 370 के कारण मुमकिन हुआ। आइए आपको बताते हैं क्या है धारा 370 । 

370 धारा(article)

         भारतीय संविधान की धारा 370 जम्मू-कश्मीर राज्य को विशेष दर्जा प्रदान करती है। धारा 370 भारतीय संविधान का एक विशेष अनुच्छेद यानी धारा है, जो जम्मू-कश्मीर को भारत में अन्य राज्यों के मुकाबले विशेष अधिकार प्रदान करती है। भारतीय संविधान में अस्थायी, संक्रमणकालीन और विशेष उपबन्ध सम्बन्धी भाग 21 का अनुच्छेद 370 जवाहरलाल नेहरू के विशेष हस्तक्षेप से तैयार किया गया था। 

       1947 में विभाजन के समय जब जम्मू-कश्मीर को भारतीय संघ में शामिल करने की प्रक्रिया शुरू हुई तब जम्मू-कश्मीर के राजा हरिसिंह स्वतंत्र रहना चाहते थे। इसी दौरान तभी पाकिस्तान समर्थित कबिलाइयों ने वहां आक्रमण कर दिया जिसके बाद बाद उन्होंने भारत में विलय के लिए सहमति दी। 

       उस समय की आपातकालीन स्थिति के मद्देनजर कश्मीर का भारत में विलय करने की संवैधानिक प्रक्रिया पूरी करने का समय नहीं था। इसलिए संघीय संविधान सभा में गोपालस्वामी आयंगर ने धारा 306-ए का प्रारूप पेश किया। यही बाद में धारा 370 बनी। जिसके तहत जम्मू-कश्मीर को अन्य राज्यों से अलग अधिकार मिले हैं। 1951 में राज्य को संविधान सभा को अलग से बुलाने की अनुमति दी गई नवंबर 1956 में राज्य के संविधान का कार्य पूरा हुआ। 26 जनवरी 1957 को राज्य में विशेष संविधान लागू कर दिया गया।


जम्मू कश्मीर के पास क्या विशेष अधिकार हैं


- धारा 370 के प्रावधानों के मुताबिक संसद को जम्मू-कश्मीर के बारे में रक्षा, विदेश मामले और संचार के विषय में कानून बनाने का अधिकार है। 



- किसी अन्य विषय से संबंधित कानून को लागू करवाने के लिए केंद्र को राज्य सरकार की सहमति लेनी पड़ती है।



- इसी विशेष दर्जे के कारण जम्मू-कश्मीर राज्य पर संविधान की धारा 356 लागू नहीं होती। राष्ट्रपति के पास राज्य के संविधान को बर्खास्त करने का अधिकार नहीं है। 



- 1976 का शहरी भूमि कानून भी जम्मू-कश्मीर पर लागू नहीं होता। 



- भारत के अन्य राज्यों के लोग जम्मू-कश्मीर में जमीन नहीं खरीद सकते हैं। धारा 370 के तहत भारतीय नागरिक को विशेष अधिकार प्राप्त राज्यों के अलावा भारत में कहीं भी भूमि खरीदने का अधिकार है। 



- भारतीय संविधान की धारा 360 यानी देश में वित्तीय आपातकाल लगाने वाला प्रावधान जम्मू-कश्मीर पर लागू नहीं होता.



जम्मू-कश्मीर का भारत में विलय करना उस वक्त की बड़ी जरूरत थी। इस कार्य को पूरा करने के लिए जम्मू-कश्मीर की जनता को उस समय धारा 370 के तहत कुछ विशेष अधिकार दिए गए थे। इसी की वजह से यह राज्य भारत के अन्य राज्यों से अलग है। 



धारा 370 की बड़ी बातें



- जम्मू-कश्मीर का झंडा अलग होता है। 



- जम्मू-कश्मीर के नागरिकों के पास दोहरी नागरिकता होती है। 



- जम्मू-कश्मीर में भारत के राष्ट्रध्वज या राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान अपराध नहीं है। यहां भारत की सर्वोच्च अदालत के आदेश मान्य नहीं होते। 



- जम्मू-कश्मीर की कोई महिला यदि भारत के किसी अन्य राज्य के व्यक्ति से शादी कर ले तो उस महिला की जम्मू-कश्मीर की नागरिकता खत्म हो जाएगी। 



- यदि कोई कश्मीरी महिला पाकिस्तान के किसी व्यक्ति से शादी करती है, तो उसके पति को भी जम्मू-कश्मीर की नागरिकता मिल जाती है। 



- धारा 370 के कारण कश्मीर में रहने वाले पाकिस्तानियों को भी भारतीय नागरिकता मिल जाती है। 



- जम्मू-कश्मीर में बाहर के लोग जमीन नहीं खरीद सकते हैं। 



- जम्मू-कश्मीर की विधानसभा का कार्यकाल 6 साल होता है। जबकि भारत के अन्य राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल 5 साल होता है। 



- भारत की संसद जम्मू-कश्मीर के संबंध में बहुत ही सीमित दायरे में कानून बना सकती है। 



- जम्मू-कश्मीर में महिलाओं पर शरियत कानून लागू है। 



- जम्मू-कश्मीर में पंचायत के पास कोई अधिकार नहीं है।  



- धारा 370 के कारण जम्मू-कश्मीर में सूचना का अधिकार (आरटीआई) लागू नहीं होता।  



- जम्मू-कश्मीर में शिक्षा का अधिकार (आरटीई) लागू नहीं होता है। यहां सीएजी (CAG) भी लागू नहीं है। 



- जम्मू-कश्मीर में काम करने वाले चपरासी को आज भी ढाई हजार रूपये ही बतौर वेतन मिलते हैं। 



- कश्मीर में अल्पसंख्यक हिन्दूओं और सिखों को 16 फीसदी आरक्षण नहीं मिलता है। 



🙈🙉🙊


       दोस्तों 370 धारा हमारे संविधान से निकाल देनी चाहिए या नहीं निकालनी चाहिए यह कॉमेंट करके अपनी राय बता दीजिए और हमारा लेख पसंद आया हो तो प्लीज कृपा करके अपने दोस्तों में shere कीजिए I

11 जनवरी 2019

10:51 am

Culture of Andhra Pradesh


Andhra Pradesh
Andhra map

state of India, located in the southeastern part of the subcontinent. It is bounded by the Indian states of Tamil Nadu to the south, Karnataka to the southwest and west, Telangana to the northwest and north, and Odisha to the northeast. The eastern boundary is a 600-mile (970-km) coastline along the Bay of Bengal. Telangana was a region within Andhra Pradesh for almost six decades, but in 2014 it was carved off to form a separate state. The capital of both Andhra Pradesh and Telangana is Hyderabad, in west-central Telangana.
           The state draws its name from the Andhra people, who have inhabited the area since antiquity and developed their own language, Telugu. Andhra Pradesh came into existence in its present form in 1956 as a result of the demand of the Andhras for a separate state. Although it is primarily agricultural, the state has some mining activity and a significant amount of industry. Area 106,204 square miles (275,068 square km).The largest city in Andhra Pradesh is Visakhapatnam. Telugu, one of the Classical Languages of India, is the major and official language of Andhra Pradesh. in this 13 district  it the third most-visited state in India. The Tirumala Venkateswara Temple in Tirupati is one of the world's most visited religious sites, with 18.25 million visitors per year. Other pilgrimage centres in the state include the Mallikarjuna Jyotirlinga at Srisailam, the Srikalahasteeswara Temple at Srikalahasti, the Ameen Peer Dargah in Kadapa, the Mahachaitya at Amaravathi, the Kanaka Durga Temple in Vijayawada, and Prasanthi Nilayamin Puttaparthi. The state's natural attractionsinclude the beaches of Visakhapatnam, hill stations such as the Araku Valley and Horsley Hills, and the island of Konaseema in the Godavari River delta.

Andhra Pradesh culture

        Andhra Pradesh has rich culture and heritage. Kuchipudi, the state dance originated in the village of Kuchipudi in Krishna district, had entered the Guinness World Records for performing Mahabrinda Natyam with a total of 6,117 dancers in Vijayawada. It had thirteen geographical indications in categories of agricultural handicrafts, foodstuff and textiles as per Geographical Indications of Goods (Registration and Protection) Act, 1999. It increased to fifteen with the addition of Banaganapalle Mangoes and Bandar laddu. The other GI tagged goods are, Bobbili Veena, Budithi Bell and Brass Craft, Dharmavaram Handloom Pattu Sarees and Paavadas, Guntur Sannam, Kondapalli Toys, Machilipatnam Kalamkari, Mangalagiri Sarees and Fabrics, Srikalahasti Kalamkari, Tirupati Laddu, Uppada Jamdani Sari and Venkatagiri Sari. and ponduru khaddaru.

A Vegetarian Andhra Meal served on important occasions

Telugu people's traditional sweet Pootharekulu originated from Atreyapuram village, Andhra Pradesh.

09 जनवरी 2019

5:11 am

I-T विभाग ने राहुल, सोनिया पर 100 करोड़ रुपये का कर लगाया

कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने आय से अधिक के हिसाब से "आय" से बच गए - जो घोषित किया गया था और क्रमशः 2011-12 का 155.4 करोड़ और 155 करोड़ रु।

एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड से संबंधित अपनी आय को आश्वस्त करने के बाद पारित आदेश राहुल ने आकलन वर्ष के लिए 68.1 लाख रुपये की आय की वापसी दर्ज की थी। पुनर्मूल्यांकन आदेश के अनुसार, गांधी की कर देयता लगभग 100 करोड़ रुपये है। पार्टी नेता ऑस्कर फर्नांडीस की आय आई-टी के सूत्रों के अनुसार 48.9 करोड़ रुपये पाई गई है।

उच्चतम न्यायालय में, जो अपने कर निर्धारण को फिर से खोलने के खिलाफ कांग्रेस नेताओं की अपील पर सुनवाई कर रहे हैं, पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने सोनिया गांधी की ओर से पेश होकर कहा कि उनके खिलाफ 44 करोड़ रुपये का कर दायित्व गलत तरीके से उनकी आय का आकलन करने के बाद लगाया गया था। विभाग के अधिकारियों का आकलन किए बिना मन की बात इस निष्कर्ष पर आई थी कि एजेएल से उसकी आय के 141 करोड़ रुपये "बच गए", क्योंकि उसने इसे वापस घोषित नहीं किया था।

वर्ष 2011-12 के लिए अपनी आय का आश्वासन देने के बाद सोनिया गांधी, राहुल गांधी और फर्नांडिस के खिलाफ 31 दिसंबर को मूल्यांकन आदेश पारित किया गया था और उन्हें दी गई प्रतियों का आदेश दिया गया था। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार इन्हें रोककर रखा गया था क्योंकि अदालत आयकर विभाग की कार्रवाई की वैधता की जांच करती है, न्यायमूर्ति एके सिकरी की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष कर निर्धारण को फिर से खोलने की चुनौती देते हुए, चिदंबरम ने कहा कि आईटी अधिकारियों के फैसले ने "सामान्य ज्ञान" के रूप में परिभाषित किया विभाग ने निष्कर्ष निकाला कि वह एक गैर-प्रशंसनीय संगठन, 'यंग इंडियन' (YI) में 1,900 शेयर प्राप्त करने के लिए 141 करोड़ रुपये की "आय से बच गई"

गान्धी ने तर्क दिया कि वे किसी भी कंपनी में "ब्याज" नहीं है, क्योंकि Yl में शेयरों के अधिग्रहण के विवरण का खुलासा करने के लिए कोई कानूनी दायित्व नहीं है। उन्होंने YI में शेयरहोल्डिंग का दावा किया था, एक गैर-लाभकारी और धर्मार्थ कंपनी होने के नाते, किसी भी हित में परिणाम नहीं हो सकता है कि न तो निदेशक की जरूरत है और न ही शेयरधारक को ऐसी कंपनी की संपत्ति में लाभांश प्राप्त करने का कोई अधिकार है या नहीं।

चिदंबरम ने कहा कि कंपनी की केवल संपत्ति पर 90 करोड़ रुपये का कर्ज था, लेकिन आई-टी विभाग ने गलती से इसे 407 करोड़ रुपये तय कर दिया। कोर्ट ने मामले की सुनवाई 29 जनवरी के लिए टाल दी है

08 जनवरी 2019

8:07 pm

Himachal Pradesh (Himalaya)- Indian states

Google source
       The state's name was coined from the Sanskrit—Him means 'snow' and achal means 'land' or 'abode'—by acharya Diwakar Datt Sharma, one of the state's eminent Sanskrit scholars. State economy depends on three main factors, hydroelectricity, tourism and agriculture. are 95% of the population of Hindu State and in major communities Brahmins, Rajputs, Girtha(Chaudhary), Gaddi, Kannet, Rathi and Koli Are included. Jammu and Kashmir have two capital (1) Simla (2) Dharmsala and largest city is Simla, It is spread over an area greater than 21,629 miles² (56019 km²), it's official language Hindi and in this 12 district
Google source

        Tourism in Himachal Pradesh is a major contributor to the state's economy and growth. The mountainous state with its Himalayan landscapes attracts tourists from all over the world. Hill stations like Shimla, Manali, Dharamshala, Dalhousie, Chamba, Khajjiar, Kullu and Kasauli are popular destinations for both domestic and foreign tourists. The state also has many important Hindu pilgrimage sites with prominent temples like Naina Devi Temple, Bajreshwari Mata Temple, Jwala Ji Temple, Chintpurni, Chamunda Devi Temple, Baijnath Temple, Bhimakali Temple, Bijli Mahadev and Jakhoo Temple. The drainage system of Himachal is composed both of rivers and glaciers. Himalayan rivers criss-cross the entire mountain chain. Himachal Pradesh provides water to both the Indus and Ganges basins.The drainage systems of the region are the Chandra Bhaga or the Chenab, the Ravi, the Beas, the Sutlej, and the Yamuna. These rivers are perennial and are fed by snow and rainfall. They are protected by an extensive cover of natural vegetation.
Google source

        Himachal Pradesh is a multilingual, multicultural and multilingual state like other Indian states. Western mountain languages are also known as Himachali languages which are widely spoken in the state. Some of the most spoken languages are Kangri, Mandeli, Kulvi, Chambalei, Bharmouri and Kinnauri. Hindu communities living in Himachal include Brahmin, Rajput, Kayastha, Goldsmith, Kanet, Rathis and Colis. The tribal population of the state is mainly Gaddi, Gujjar, Kanora, Pangwal, Bhote, Swangla and Lahaul. Himachal is well known for its handicrafts. Carpet, leather work, kullu shawl, kangra painting, chamba handkerchief, stole, embroidered grass shoes (pudding slippers), silver ornaments,
metal utensils, knitted woolen socks, tattoos, cane baskets and bamboo (wicker and rattan ) And wood work. Notable people are among them. Late, the demand for these handicrafts has increased in inside and outside the country.Himachali hat of different colors bands is also famous for the local people, and they are often regarded as symbols of Himachali identity. Local music and dance also reflects the state's cultural identity. Through its dance and music, the Himachali people lure their deities during local festivals and other special occasions.

04 जनवरी 2019

2:19 pm

रिषभ पंत ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट शतक बनाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बने

NEW DELHI: ऋषभ पंत शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बन गए।

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) में अपने करियर का दूसरा टेस्ट शतक बनाने के लिए युवा विकेटकीपर बल्लेबाज को 137 गेंदों का सामना करना पड़ा।

पंत, जो 96 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे, ने अपने पहले टेस्ट शतक को आस्ट्रेलियाई सरजमीं पर शैली में उतारा, और आस्ट्रेलियाई स्पिनर मारनस लेबुस्चगने को एक चौके के लिए मिडविकेट की ओर बढ़ाया।

पंत से पहले, भारत के पूर्व विकेटकीपर फारूख इंजीनियर ने 1967 में एडिलेड में 89 रन बनाते हुए ऑस्ट्रेलियाई धरती पर एक भारतीय स्टॉपर द्वारा सर्वोच्च स्कोर का रिकॉर्ड कायम किया था।

पंत एशिया के बाहर दो टेस्ट शतक लगाने वाले एकमात्र भारतीय विकेटकीपर भी बने। सितंबर 2018 में ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ दिल्ली बालक ने शानदार 114 रन बनाए।

21 साल और 92 दिन की उम्र में, पंत ऑस्ट्रेलियाई धरती पर एक ton का स्कोर बनाने वाले दूसरे सबसे कम उम्र के भारतीय बन गए।

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने 18 साल और 256 दिन और 18 साल 285 दिन की उम्र में क्रमशः दो शतक (एससीजी और पर्थ में 1992) बनाए।

यहां भारतीय विकेटकीपरों की सूची ऑस्ट्रेलिया में सर्वोच्च स्कोर है:

ऋषभ पंत - SCG 2018 में 100 *

फारुख इंजीनियर - 89 - एडिलेड 1967 

किरण मोर - 67 * एमसीजी 1991 में

पार्थिव पटेल - 62 एससीजी 2004 में

MSधोनी - एससीजी 2012 में 57 *


03 जनवरी 2019

9:32 pm

क्यों विदेशी निवेशक भारत में रुचि खो रहे हैं ?

   
कौन से ऐसे कारण है जिसके कारण से विदेशी निवेशक भारत में रुचि खो रहे हैं
 
        नरेन्द्र मोदी को मई 2014 में गुजरात में अपने रिकॉर्ड के आधार पर एक प्रचंड बहुमत के साथ चुना गया था, जो एक अच्छी तरह से भारतीय राज्य है। हर किसी को श्री मोदी से बहुत उम्मीदें थीं। लेकिन बड़े मंच पर, राज्य मंत्री के रूप में उन्होंने जो रूप दिखाया, वह अक्सर उन्हें सुनसान करता है। केंद्रीय बैंक, भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) के साथ हाल ही में एक टकराव हुआ, जिसके कारण उसके गवर्नर उर्जित पटेल का इस्तीफा नवीनतम और सबसे गंभीर है- गलत। श्री पटेल के इस्तीफा देने के तुरंत बाद, रुपया गिर गया।

           लेकिन श्री मोदी के तहत भारत एक अधिक स्थिर उभरते बाजारों में से एक रहा है। शेयर बाजार में गुरुत्वाकर्षण की अवहेलना करने के लिए लग रहा है, घरेलू निवेशकों के लिए बड़े हिस्से में लगातार सोने और संपत्ति से शेयरों में स्विच करने के लिए धन्यवाद। इसने विदेशी निवेशकों के बीच बेचैनी बढ़ा दी है। जिन्होंने चुपचाप भारत से धन निकाला है। श्री मोदी ने भारत को बदलने का एक अच्छा मौका दिया है। गुजरात में श्री मोदी के 12 वर्षों के हॉलमार्क, ईमानदार सिविल सेवकों द्वारा संचालित महत्वाकांक्षी परियोजनाएं थीं। वह प्रोजेक्ट-इन-चीफ थे। IDFC इंस्टीट्यूट के रूबेन अब्राहम के अनुसार, एक थिंक-टैंक, श्री मोदी इस "प्रोजेक्ट मोड" में उत्कृष्टता प्राप्त करते हैं। लेकिन, परियोजना मोड में एक सरकार GDP वृद्धि को नहीं उठाएगी। "आपको गहन, प्रणालीगत सुधारों की आवश्यकता है," श्री अब्राहम कहते हैं।

        भारत की क्षमता के बारे में बिक्री की पिच पहले से ही पतली थी। सन लाइफ इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट के दिसंबर मुलार्की कहते हैं, "बहुत सारे निवेशकों ने ध्यान दिया है।" अमेरिका और चीन के बीच व्यापार विवाद केवल एक और चूक का अवसर है। इंडोनेशिया, वियतनाम और फिलीपींस में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का एक संकेत यह संकेत हो सकता है कि अमेरिकी फर्म चीन को बाहर करने के लिए आपूर्ति श्रृंखलाओं को फिर से खोलने की मांग कर रहे हैं। भारत को भी लाभ होना चाहिए। लेकिन श्रम कानूनों की भयावहता और वाणिज्यिक भूमि की कमी एक निर्माण केंद्र के रूप में अपनी प्रगति को वापस रखती है। GST के अलावा, श्री मोदी ने इसे बदलने के लिए बहुत कम किया है।

11:11 am

Top Five reached Indian Bollywood actors.

     There are so many actors in Bollywood that are the most ambitious and they have a lot of assets. Of these, 5 are those who come in the most rich list,
Salman Khan 

Famous actor Salman Khan in Bollywood, along with working in Bollywood movies, he also has many other businesses, along with his own production house, and his own 18 companies outside India. He possesses about 2000 crores of current wealth.
Shahrukh Khan

Famous Bollywood actors who know the whole Bollywood name as King Khan. Each of his films Super Duper hits. They currently have an asset of 1200 crore and it is in second place.
Amitabh Bachchan

Famous Bollywood legends known as Big B, they have assets of Rs 850 crore, due to which they are at number three.
Allu Arjun

The famous actor known to be South is Allu Arjun. He has assets worth Rs. 650 crores. So it is in fourth place.
Rajinikant

Those who have worked in Bollywood while working in South, who know in the name of God they have 1000 million assets. And it's at fifth position.
8:30 am

India's historical secret, no one knows the difference

     
Third party reference
     In a controversial region (Aksai Chin) between India and China, there is a pass called Kongka La; Due to its location in the Himalayas and because it is a controversial area, it is one of the least viewed parts of the world. In Mount Kailash, monks of both countries, soldiers and even pilgrims reported the strange craft.

    According to some, the site has an underground UFO base that Chinese and Indian officials know.

Secret Society of Emperor Ashoka

       In 273 BC, Ashoka conquered Kalinga and became overwhelmed by the bloodshed he saw, resulting in his conversion to Buddhism. In search of truth, Ashoka got the source of very important knowledge which would destroy humanity if it fell in wrong hands. To protect this knowledge, he appointed nine people, each of which was handed over to a book.

     Over the years, this story has become a myth, but there are some people who believe that the nine men created the world's first secret society.

Kuldhara Mystery
Third party reference

     Kuldhara was a village established in Palaival Brahmin in 1291 in western Rajasthan. It became a very prosperous city. However, in 1825, all the people in 83 villages of Kuldhara and surrounding areas suddenly left their homes suddenly, because no one has ever known.

Baba Harbhajan Singh
Third party reference

     Jawans of the late Punjab Regiment, Harbhajan Singh, were stationed at Nathula Pass on the China-Indian border. Singh was released on October 4, 1968 by a fast-moving stream. A few days later, the soldiers began to see Singh in their dreams; He told them where he searched his body and built a tomb there.

     Soon, on both sides of the border, a soldier appeared on the horse who was patrolling the area. Samadhi soon found fame among civilians and soldiers

Codenih twins

        Kodinhe located in Malappuram, Kerala, is a village of about 2,000 families. The most remarkable thing in this small town is that there are about 250 pairs of twins in it; This is six times the twin children's global average rate.

Roop Kund Kankal Lake

Founded in Himalayas, Kund Lake gained fame for hundreds of human skeins found on their shores. When the snow melts, then any shallow 2-meter deep lake can see the skeleton. The skeletons are from the 9th century BC. National Geographic found 30% of DNA locally found in the skeleton, while 70% were connected to Iran.

31 दिसंबर 2018

4:00 pm

This is Gujarat's village which also shying the development of the city, 7000 NRI will be come motherland.(Dharmaj)

    
Dharmaj
Google image

     Imagine the village, the lack of basic necessities such as hazardous construction of any kind of town planning, raw material flowing through dirt roads, open and festive sewers, ground water and dirt kingdom, power and water, and education and health infrastructure. In the absence of the facility, the image of rural lifestyle filled with inconvenience and conflict, stems from the mentality. But you will be surprised to know that there is only one village in Gujarat that you will find specific in any country of the world, the name of this village is Dharmaj .... The country's Prime Minister Narendra Modi has praised the village and the village should be imitated by other villages for development. He also said that Dharmaj-Day will be celebrated on 12th January in Dharmaj village.

       To celebrate Dharmaj-din, there are 7000 to 8000 religious people living in the country and abroad. Since most of the NRIs are coming here, its arrangements are still in full swing. The team for which Micro Planning has already been active in the religion.This time Dharmaj-Day theme is based on yellow color. So all those guests who are in Dharmaj Day will wear yellow clothes. This time, as the chief guest, the Mumbai business tycoon and former Sheriff Dr.Mohan Patel and British De High Commissioner Geoff Wayne is going to be specially affectionate.
Dharmaj farm
Google image

       Here, agriculture and animal husbandry also happen and factories in the industrial area are also blessed. Bullets and buggies are also run on highways and on the other hand, expensive cars like BMW and Audi also run foreign cars. Here, the village co-operatives are also functional and foreign banks are also in the fray. Here, there are also Ayurvedic clinics and corporate hospitals. Here, there are also ideal government schools providing primary education and NRI is also an International Residential School for Children.
Lake of dharmaj village
Dharmej lack

         Here, water is also available in the well and gram panchayat is also supplied from the RO filtering plant to domestic water at home. Here, there are also luxurious bungalows with creative architecture, and old-fashioned wonderful mansions are also made of ancient style. Here, there are also hotels offering traditional cuisine like Rotta(indian bread) and Vegetables, and there is also an International Food Chain serving pizza-burgers. Here, there are many families in which one saves a bridal property by cultivating a brother and another brother leads to economic viability by working hard to work abroad. 

        But, the most important thing is that the values ​​of family values ​​in the religion, honor of elders, love for children, compassion for the poor, respect for society, pride of hometown for their village and the spirit of homelessness are intact. This is the only village in the world that has published books and cofi table books on its geography, history, present and future. Not only that, the village's own website, the village's aliotic song and logo are also there.
Dharmaj gam
Dharmej village

       There are currently ten thousand people living in Dharmaj village. But, the leaders of the village say that more than two thousand families of Dharmaj are living in other countries of the world. If everyone comes back, then there will be another new village development in front of Dharmaj. The contribution of the local people to the development of the religion is the economic contribution of religious people living abroad with dignity, honesty, hard work and transparent administration.
Dharmaj highschool
Dharmej school

        Dharmaj people who are live in  to foreign countries are paying special attention to the education of children. You will be surprised to know that in 1904, an advocate named Zaverbhai Dongarbhai Patel started English medium school in Std-1 to Std-3 in Dharmaj. At that time the number of students was 70. In 1955, the number of students in this school was 510. At present, various schools are available for every phase of society in Dharmaj. Here, students can study from KG to PG and for that they do not have to go to another city or village. A system that provides complete education in its village is available. Besides, there is also a special library facility for students.

If you like the information, please share our post and share it with your friends

30 दिसंबर 2018

1:15 am

Punjab- history and culture,indian state

Punjab
Punjab- history and culture,indian state
Punjab map

Punjab is the richest state in the country. It is also called the house of Sikhism. Chandigarh city is the capital of Punjab. Agriculture is the main occupation of the people of Punjab and it has been an important contributor to the state's economy. In most areas of Punjab, the people of Sikhism live, which originated from the education of the first Sikh Guru, Guru Nanak. Most of the people of Hindu religion live in the state but here too there are enough people of Muslim religion. Christians and Christians of Jain religion also live in some places in the state.

There are 22 districts in the state of Punjab. Punjab has been divided into three areas namely Malwa, Me and Doaba. Punjabi is the official language of Punjab.Dance of state of Punjab
Punjab- history and culture,indian state
Google image

Bhangra: Bhangra is a type of dance and music, which originated from the Punjab region.

The main thing about Punjabi cuisine is the diverse range of dishes. Ghee is used in a large quantity of dishes here. Some of the famous Punjabi dishes include Makki the Roti, Sarason da Sag, Shami Kabab, Tandoori Chicken, etc.
Punjab- history and culture,indian state
Punjabi cuisine

There are many tourist places in the state of Punjab. While all these places are set up in the diverse cities of the state. Some of these famous tourist sites are:

Punjab- history and culture,indian state
Google image

Golden Temple (Amritsar)
Jagatjit Palace (Kapurthala)
Rock garden (chandigarh)
Bire Fat Tiger Reserve (Patiala)
Maharaja Ranjit Singh War Museum (Ludhiana)
Bathinda Zoological Park (Bathinda)
Shaheed-e-Azam Sardar Bhagat Singh Museum (Jalandhar)
Noorpur Fort (Pathankot)